प्रदेश में पाकिस्तान से आया संकट | Locust Attack in Uttar Pradesh


देश अभी कोरोना के कारण लॉकडाउन और हाल ही में आए इम्फान जैसे तूफ़ान जूझ रहा था, इसी बीच देश में पाकिस्तान से एक नया संकट आ गया है. देश में राजस्थान की सीमा से घुसे टिड्डियों के दल ने अब प्रदेश में भी अपना रूख कर लिया है. टिड्डियों का यह दल बाकी अन्य प्रदेशों पंजाब हरियाणा, मध्य प्रदेश जैसे राज्यों में भी पहुँच चुका है.

प्रदेश के कई शहरों में किया गया अलर्ट :
प्रशासन ने टिड्डी दल के हमले को देखते हुए कई जिलों में अलर्ट कर दिया है, इससे पहले यह अलर्ट मुख्यतः गाजियाबाद, अलीगढ़, आगरा, मथुरा, मेरठ, शामली, बागपत, सहारनपुर, मुजफ्फरनगर आदि में किया गया था. प्रशासन के अनुसार टिड्डियों का यह दल एक दिन में 200 किमी. की रफ्तार तक आगे बढ़ रहा है.

सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य :
टिड्डियों के दल का सर्वाधिक प्रभाव राजस्थान में है. आमतौर पर टिड्डियों का यह दल जून-जुलाई में आता है, जिसका प्रभाव सबसे ज्यादा सब्जियों की फसल पर पड़ता है.

कृषि विभाग द्वारा टिड्डी से बचाव के सम्बन्ध में एडवाइजरी :
1.  ज्यादा शोर होने पर आस पास के क्षेत्रों में टिड्डियों के आक्रमण की संभावना कम हो जाती है.
2.  बलुई मिट्टी, टिड्डी के प्रजनन एवं अंडे देने हेतु अनुकूल होती है. अतः टिड्डी दल के आक्रमण से संभावित क्षेत्रों में जुताई करवा दें एवं जल का भराव करवा दें, ऐसी दशा में टिड्डी के विकास की संभावना कम हो जाती है.
3.  टिड्डी दल के आक्रमण की दशा में क्षेत्रीय केन्द्रीय नाशीजीव प्रबन्धन केंद्र, लखनऊ को फोन न. 0522-2732063 पर सम्पर्क करें.